Thursday, 27 April 2017

रोज दिन की शुरुआत अच्छे मन से कीजीए

कई दिन से मन विचलित था तो अपने आदर्श अब्दुल कलाम जी की जीवनी पढ़ने लगा , एक वाक्य लिखी थी उसमें जो की कलाम जी ने ही बोली है,, वो कहते है कि

जीवन में उतार चढ़ाव बहुत ही जरुरी हैं ।  इसके बिना जीवन बेकार है,, अगर गम नही होगा तो खुशियों के आने का अनुभव हमको कैसे होगा?? और वो कहते है कि कोई व्यक्ति यदि icu में admit है । तो monitor पर उसकी जीवन रेखा में उतार चढ़ाव बहुत ही जरुरी है । जीवन रेखा में यदि उतार चढ़ाव ना हो तो वो मृत्यु का ही सूचक है ।।

कभी कभी हमको लगता है कि हमारे जीवन में बड़ा ही संघर्ष है । बड़ी परेशानी है तो सिर्फ एक बात ही मैं कहना चाहता हूं आपसे ,  की जीवन जीना एक cycle चलाने के समान ही है । और जैसे cycle को balance करने के लिए उसको चलाते रहना जरूरी है उसी तरह से जीवन को सुखमय बनाने के लिए जीवन की सभी परेशानियों का सामना करना बहुत ही जरुरी है ।।

तो खुश रहिये हमेशा और सारे संघर्षो को अनुभव में बदलते रहिये और जीवनपथ पर आगे बढ़ते रहिये हमेशा ।।

तुझको कुछ याद है क्या ??

तुझको कुछ याद है क्या तेरे मन में अब भी कुछ बात है क्या तू मुझको देखती है तो मुँह फेर लेती है, तेरी पास मेरी दी हुई अब भी कुछ सौगात है क्...